संदेश

August, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Welcom firing

चित्र
 स्वागत में  चली गोलियां रवीन्द्र व्यास   वो दिन था एक अगस्त २०१० का ,अगस्त माह यानि कि क्रांति माह ,आजादी के माह ,  का पहला दिन , मध्य प्रदेश के छतरपुर में आज खुले आम गोलियां चलाई गई | यहाँ के प्रमुख छत्रसाल चोराहे पर पुलिस की मोजूदगी में ये गोलियां चलती रही |यहाँ ना किसी क्रांतिकारी का सम्मान था ना बदहाल व्यवस्था के खिलाफ कोई क्रांति का आगाज था |  था स्वागत का जस्न,  बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने अपने राष्ट्रीय सह संयोजक राजेश पांडे के स्वागत के नाम पर ये सब किया | दरअसल  विश्व हिन्दू परिषद्  ने  यहाँ के नगर भवन में संत अर्चक ,पुरोहित सम्मान समारोह आयोजित किया था | इस समारोह में जिले भर से तक़रीबन दो सो  से ज्यादा साधू संत आए थे | इसी समारोह में भाग लेने  बजरंग दल के पांडे जी यहाँ आये थे | उनका स्वागत बंदूक कि गोलियों से हवाई फायर कर के किया गया | हालांकि बजरंगियों को उनका स्वागत हिन्दू धर्म कि उस रीति निति के अनुसार करना चाहिए ,जो हिन्दू धर्म में आदि अनादि काल से चली आई हे | पर वे भी क्या करें मीडिया में वह खबर प्रमुखता नहीं पा सकती थी ,इस लिए आधुनिक हथियारों से स्वागत कर दिया | बजरंग द…