संदेश

January, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Rani hui farar

राजा गए जेल ,रानी हुई फरार खबरदरखबर - बुंदेलखं[रवीन्द्रव्यास ]
मध्यप्रदेशकेबुंदेलखंडइलाकेमेंइनदिनोंपंचायतचुनावकेबादयदिकिसीकीचर्चासबसेज्यादाहैतोवोहैभैयाराजा,अपनीहीनातिनवसुंधराकीहत्याकेषड्यंत्रकेआरोपमेंजेलमेंबंदभैयाराजापरयेएकएसाकलंकलगाहैजोउनकेद्वाराकियेगएतमामअपराधोंपरभारीपडाइसमुश्किलसेवेनिजातपातेकीउनकेएकऔरपापकीफाइलखुलगई , उन्होनेअपनेसाथियोंकीमददसेसाटा[पन्ना]गाँवसे१३सालपहलेविवाहितातिज्जीबाईकाअपहरणकरायाउसेबंधकबनाकररखा ,२१ /०५/०७कोउसनेआगलगाकरभोपालमेंआत्महत्याकरलीउनकेइसपापमेंउनकीपहलीपत्नीविधायकआशारानीकीभीसहभागिताबताईजातीहै , भोपालपुलिसनेउनकेऊपरभी

Antim sanskar

हिन्दू रीति रिवाज से हुआ  विदेशियों का अंतिम संस्कार  खजुराहो/२३ जन२०१०  आज यंहां दक्षिण कोरिया की दो विदेशी महिलाओं का हिन्दू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार किया गया | दक्षिण कोरिया के बुसान [busan] की रहने वाली जोंग वा कोंग अपने साथियों के साथ हिंदुस्तान घूमने के लिए आई थी | १९ जनवरी को पन्ना के देवेन्द्र नगर कस्बे के पास एक सड़क हादसे में इन दोनों की मोत हो गई थी ,वा ड्राइवर सहित ५ लोग घायल हो गए थे | तब से इन दोनों के शवों को परिवार के लोगों का इंतजार था |             दक्षिण कोरिया दूतावास के कौंसलर एच .एच.किम {h.h.kim] ने बताया की ये दोनों हाई स्कूल में शिक्षिका थी | इनके भाई वा चाचा शनिवार को  यंहा आये | इसाई होने के बाद हिन्दू रीति रिवाज से दाह संस्कार किये जाने के सवाल पर उनका कहना था की सभी भगवान एक है हिंदुस्तान में भगवान है तो ईसा भी है ,यही सब किया \अंतिम संस्कार कराने वाले पंडित विद्या प्रकाश अवस्थी ने बताया की खजुराहो पर्यटक क्षेत्र है ,यंहा आने वालों के साथ अतिथि देवो भवः मानते ही व्यहार किया जाता है |

panchayat prapanch

चित्र
पंचायत प्रपंच
[रवीन्द्र व्यास ] आज अगर महत्मा गाँधी जिन्दा होते तो वे भी एसे पंचायती राज व्यवस्था से तोबा कर लेते \ मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव के दोरान हिंसा का जो तांडव देखने को मिला ,उसे देख कर यही लगता की अहिंसा के पुजारी गाँधी के नाम पर सिर्फ पंचायती राज व्यवस्था का प्रपंच  इस देश में रचा गया |वह वास्तव में  गाँव में सामजिक समरसता को समाप्त करने का एक षड्यंत्र था | इस की बानगी पिछले और इस बार के चुनावों में देखने को मिल गई \\ हम एसा भी नहीं मानते कि यह कदम गलत था ,किन्तु नेतिकता हीन हिंदुस्तान में पहली जरुरत वातावरण निर्माण की थी | किन्तु सिर्फ अपनी और अपने परिवार की सोच रखने वाले समाज से आये लोगों ,नेताओं ,अधिकरियों से हम किस तरह की उमीन्द कर सकते है | ---------------------खबर दर खबर[ बुंदेलखंड] जनवरी के अंतिम सप्ताह में हुए पंचायत चुनावों में बूथ केप्चरिंग ,गोली चालन, मार पीट ,पुलिस अधिकारिओं के साथ मार पीट ,हत्या जेसे जघन्य कृत्य हुए | मसला पंचायत के पंच,जनपद सदस्य , जिला पंचायत सदस्य को लेकर उतना उग्र नहीं था| सारे फसाद की जड़ में सरपंची का रूतबा था \ सरपंची पाने के लिए कैसे -२ …

पीडियों से खिलवाड़

चित्र
रवीन्द्र व्यास
दुनिया के देश पानी की समस्या को लेकर भले ही चिंतित हो पर बुंदेलखंड अंचल के छतरपुर जिले में देश के भविष्य और पीडियों से केसे खिलवाड़ किया जा सकता है ,इसका नमूना देखना हो तो आप अवश्य छतरपुर आइये आप यंहा पाएँगे पैसा कमाने के नायाब नुस्खे ,इंजिनरी का कमाल ,मूल लक्ष्य से भटकने का चमत्कार ,वह सब भी छात्रों की जिन्दगी की कीमत पर
सुकुंवा गाँव के सेकेंडरी स्कूल में जमीन पर बनी टंकी देख कर कोतुहल जागा ,लगा सरकार ने बच्चों के पीने के पानी की अच्छी व्यवस्था कर दी है \ पास जाने पर जो पाया तो होश उड़ गए \ यह पानी की टंकी कुछ ऊपर कुछ नीचे बनी थी ,इसमे किसी टीउब वेल से पानी नहीं भरा जाता बल्की इसमे वर्षा का जल संरक्षित किया जाता है ,ताकि स्कूल के बच्चे वर्ष भर इस पानी से अपनी प्यास बुझा सकें \ वर्षा जल को संरक्षित करने के स्कूल की छत पर से दो कोने से पाइप लगाये गए थे \ पर स्कूल की छत की पट्टी टूटी देख कर हमने छात्रों से इसके टूटने का कारण पूंछा तो ,इन लोगों ने बताया की एक तो हमारे स्कूल की ऐसी तैसी कर दी अब आप पूंछ रहे है की पट्टी क्यों टूटी \ अगर पट्टी नहीं तोडते हमारा स्कूल गिर जाता …