संदेश

July, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

बुंदेलखंड की डायरी _ विनाशकारी बांध मिटटी में मिले मिटटी के बाँध

चित्र
मिटटी में मिले मिटटी के बाँध 

रवीन्द्र व्यास 
 " सब जानते हैं जो आया सो जाएगा राजा रंक फ़क़ीर " यह सब जानने  के बावजूद दुनिया में  आया ये सौ साल ( अधिकतम आयु ) का मुसाफिर  हजारो साल की गंदगी फैलाने पर आमादा है । बुंदेलखंड में एक कहावत है कि " पूत सपूत तो का धन संचय पूत कपूत तो का धन संचय " जिसका अर्थ बहुत व्यापक है । किन्तु इसके बाद भी लोगों की लालसा ऐसी है की वे अपने और पीढ़ियों के लिए  धन संचय में ऐसे जुटे हैं की उन्हें अपनी ही मानव जाति की जान की कोई कीमत ही नजर नहीं आती । ऐसा ही कुछ   बुंदेलखंड में हो रहा है । जहाँ बुंदेलखंड  पैकेज से बने मिटटी के बाँध मिटटी में मिल रहे हैं   तो कही पुल पुलिया टूट रहे हैं \ तो कहीं उफनती नदियों  से हालात बेकाबू हुए ।                                                        पिछले दिनों  प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अरुण यादव  पन्ना जिला के दौरे पर आये, उन्होंने पन्ना जिले में बहे बांधों को लेकर बड़ी चिंता जताई । वे 58  करोड़ की लागत के सिरस्वाहा बाँध , 11 करोड़ की लागत से बने बिलखुरा बाँध का दौरा करने भी गए । इसके बाद उन्होंने कहा जिले में…