संदेश

2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

News

चित्र
दिग्विजय   सिंह के बयान पर उमा भारती का  पलट वार 
कांग्रेश कुछ राज्यों में घुसपेठियों के सहयोग से चुनाव जितने लगी है कुछ राज्यों में सिमी और नक्सलवादी संगठनों के सहयोग से चुनाव जितने की तयारी में है | उनको प्रशन्न करने के  लिए हिन्दुओं को बदनाम  कररही है |  इससे हिन्दू का नुकशान नहीं बल्कि देश का नुकशान होगा | स्पेक्ट्रम घोटाले से लोगों का ध्यान हटाने के लिए कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह को प्रवक्ता बनाया है | हिन्दू मुस्लिम की खून की होली खेलकर उनका आपस में झगडा करवाकर भ्रष्टाचार  के मुद्दे से लोगों का ध्यान  हटाना चाहते हें |  सरस्वती शिशु मंदिर के बारे में जो उन्होने कहा हे , दिग्विजय सिंह को कहूँगी की गोलवलकर जी को पंडित नेहरु ने धन्यबाद  पत्र लिखा था | क्योंकि  १९४९ में पाक ने गलत तरिके से काश्मीर को कब्जाने की कोशिस की थी | उस समय संघ के स्वयं सेवक ने  सेनिकों के साथ लड़ाई में भाग लिया था |,उस समय  २६ जनवरी की परेड में  गोलवलकर ने स्वयं सेवकों को बुलाया था | सरस्वती शिशु मंदिर में  कांग्रेश नेताओं के बच्चे भी पड़ते हें | स्पेक्ट्रम घोटाले से लोगों का ध्यान हटाने का बहुत ही घिनोना प्रया…

Fwd: story script

चित्र
अनोखा दिल  रवीन्द्र व्यास    मध्य प्रदेश के छतरपुर  जिले में सोमवार (15 nov10) को  एक अनोखे बच्चे ने जन्म लिया | जिसका दिल { ह्रदय } शरीर के अन्दर नहीं बाहर है|कोई भी इसके धड़कते  हुए दिल को देख सकता है   | दुनिया में इस तरह के सिर्फ आठ दस मामले ही सामने आये हें |  जिले के अनगोर गाँव के रहने वाले  अशोक साहू की पत्नी सीता  ने आज एक शिशु को जन्म दिया | अनगोर के स्वास्थ केंद्र में जन्मे इस बालक को जिसने भी  देखा हेरान रह गया | क्योंकि इसका दिल बाहर था | इसे तत्काल ही छतरपुर जिला अस्पताल लाया गया | जहाँ डाक्टरों ने इसे इलाज के लिए देहली ले जाने की सलाह दी है |अशोक के यह तीसरी संतान है एक लड़की और एक लड़का पहले से है | गरीब मजदूर के लिए यह एक बड़ा संकट है | की ले जाने के लिए पेसे नहीं हैं और इलाज के अभाव में उसका बचना मुश्किल है |सहयोग से आज मंगजिला प्रशासन के लवार को उसे दिल्ली इलाज के लिए भेजा गया | 
       जिला अस्पताल के सर्जन डॉ .के.के.चतुर्वेदी  कहते हैं की  बच्चा बड़ा ही अद्भुत है |इसके सीने की हड्डी जिसको स्टर्नम कहते हैं ,वह नहीं बनी है ,और पूरा ह्रदय इसके शरीर के बाहर है , ये ह्रदय …

Anokha School

चित्र
एक स्कूल जहाँ दीवालों से मिलता ज्ञान johUnz O;kl Nrjiqj@Ldwy dh nhokyksa ij fy[kh fdrkch ckrksa dks ns[k dj gj dksbZ Hkzfer gks tkrk gS] fd D;k og okdbZ ljdkjh Ldwy esa vk;k gS @lkQ lqFkjk Ldwy ]vuq'kkflr Nk=]fo/kky; dh gj nhoky vkSj Nr ij fdrkch dkslZ dk Kku]Ldwy dh ckgjh nhoky ij xkao okyksa ds fy; sO;ogkfjd Kku dh ckrsaA          ;g lc dj fn[kk;k gS lsuk के  ,d fjVk;MZ toku jk?kosUnz iqjksfgr us]fjVk;MZesUVds ckn f'k{kd cus bl toku dh igyh fu;qDrh fctkoj fodkl [.M ds ekekSu izkFkfed ikB'kkyk es 1998 esa gqbZ Fkh A Ldwy ds uke ij tks Hkou Fkk mlesa xko ds nkm yksxksa dk dCtk Fkk] Ldwy esa Hkqlk Hkjk Fkk vkSj tkuoj ca/krs Fks A iqjksfgr crkrs gSa fd igys fnu ek= 12 cPps Ldwy vk,s vksj ;gka igys ls inLFk f'k{kd us crk;k fd ek= brus gh cPps i<us vkrs gsa A geusa xkao okyksa ls ckr dh yksxkas dks le>k;k nwljs fnu la[;k c< dj21 gks xbZ A xko ds yksxks dks Hkjkslk ugh gks jgk Fkk fd gQrk iUnzg fnu esa [qyus okyk Ldwy jkst [kqysxk A d{kk,sa isM ds uhps yxrh jgh ]xka…

,RAHUL Gandhi

चित्र
सिमी और आर.एस.एस.एक समान = राहुल गाँधी 
रवीन्द्र व्यास 
 कांग्रेस के  युव राज राहुल गाँधी ४से ६  अक्तूबर के   मध्य प्रदेश दौरे  की शुरुआत श्योपुर  से की |अपने मध्य प्रदेश के दौरे में उनने  नोजवानो को कांग्रेस की रीति निति  समझाई और युवक  कांग्रेस में शामिल   होने की अपील भी की  |ये अलग बात हे की इस अपील में उनने एक एसा राजनेतिक बयान टीकमगण  में दे दिया की जिससे आर.एस .एस. के लोगों की भोंहे तन गई |उनने कहा कि सब के लिए दरवाजे खुले हें ,पर क्रिमिनल ना हो विचारधारा कांग्रेस पार्टी जेसी हो ,आर.एस.एस.कि ना हो, सिमी  कि ना हो|                             गोर तलब हे कि सिमी एक राष्ट्र द्रोही प्रतिबंधित संगठन हे जिसके साथ आर.एस.एस. का नाम जोड़े जाने से संघ के नेताओं का नाराज होना लाजमी हे | हालाँकि टीकमगण  कि सभा का बयान तो एक तरह से शांत  हो गया था | भोपाल कि पत्रकार वार्ता में  उनने इस बयान कि एक तरह से पुष्टि करते हुए कहा  दोनों ही घोर कट्टरवादी संगठन हें |  अयोध्या काण्ड के बाद से उनका यह बयान एक सोची समझी राजनेतिक समझ का ही हिस्सा माना जा रहा हे | जिसके तहत वे बिहार कि  चुनावी राजनीति  को कह…

life

थेलिसिमिया पीड़ित पांच वर्षीया अनिष्का को जिले के नोजवान देंगे जिंदगीअभिषेक व्यास  छतरपुर  से एक अच्छी खबर आई हे ये उन लोगो के लिए भी हे जो आज के नोजवानो को कोसते हें |यहाँ की रहने वाली पांच वर्षीया अनिष्का बचपन से ही थेलिसिमिया से पीड़ित हे | ६ जुलाई २००५ को उसके पिता अरविन्द खरे को इस बीमारी के बारे में पता चला था | एक प्रिंटिंग प्रेस में काम करने वाले अरविन्द ने अपनी सारी पूंजी उसके इलाज पर खर्च कर दी थी |५० हजार खर्च कर हेदराबाद मेंअनिष्का के शारीर का ब्लड बदलवाया था | आर्थिक रूप से जिंदगी से हार चुके अरविन्द को छतरपुर की कम्युनिटी हेल्थ केयर संस्था मिल गई | जिसके नोजवान साथियों ने अनिष्का की जिंदगी बचाने का संकल्प लिया हे | संस्था के पास ४२ लोगो ने ब्लड देने का संकल्प पत्र भरा हे | संस्था के प्रमुख दीपक तिवारी के अनुसार ,इस कार्य के लिए एक हेल्प लाइन सेवा शुरू कि गई हे जिसमे लोग संस्था के मोबाईल नंबर 9753344434,,9926903939,,9826211631 पर  संपर्क कर रक्त दान कर सकते हें |  डाक्टर लखन तिवारी  का कहना  हे की ये बीमारी लाइलाज होती हे | इस बीमारी के जीवाणु रक्त बनाने की प्रक्रिया रोक देत…

Welcom firing

चित्र
 स्वागत में  चली गोलियां रवीन्द्र व्यास   वो दिन था एक अगस्त २०१० का ,अगस्त माह यानि कि क्रांति माह ,आजादी के माह ,  का पहला दिन , मध्य प्रदेश के छतरपुर में आज खुले आम गोलियां चलाई गई | यहाँ के प्रमुख छत्रसाल चोराहे पर पुलिस की मोजूदगी में ये गोलियां चलती रही |यहाँ ना किसी क्रांतिकारी का सम्मान था ना बदहाल व्यवस्था के खिलाफ कोई क्रांति का आगाज था |  था स्वागत का जस्न,  बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने अपने राष्ट्रीय सह संयोजक राजेश पांडे के स्वागत के नाम पर ये सब किया | दरअसल  विश्व हिन्दू परिषद्  ने  यहाँ के नगर भवन में संत अर्चक ,पुरोहित सम्मान समारोह आयोजित किया था | इस समारोह में जिले भर से तक़रीबन दो सो  से ज्यादा साधू संत आए थे | इसी समारोह में भाग लेने  बजरंग दल के पांडे जी यहाँ आये थे | उनका स्वागत बंदूक कि गोलियों से हवाई फायर कर के किया गया | हालांकि बजरंगियों को उनका स्वागत हिन्दू धर्म कि उस रीति निति के अनुसार करना चाहिए ,जो हिन्दू धर्म में आदि अनादि काल से चली आई हे | पर वे भी क्या करें मीडिया में वह खबर प्रमुखता नहीं पा सकती थी ,इस लिए आधुनिक हथियारों से स्वागत कर दिया | बजरंग द…

Riksha

चित्र
चलाते हें रिक्शा बोलते हैं विलायती  [रवीन्द्र व्यास ]

खजुराहो  इस छोटे से कस्बे का दुनिया में बड़ा नाम है | यहाँ आने वाले हर देशी -विदेशी पर्यटक का यहाँ के रिक्शा चालकों ,हाकरों से वास्ता पड़ता है |हर कोई इनकी वाक् पटुता से मोहित भी होता है | पर जब उसे यह पता चलता है कि विलायती जुबान में बोलने वाले ये लोग पड़े लिखे नहीं बल्कि अंगूठा छाप हैं ,तो उनके आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहता है | पर यह उनकी मार्केटिंग का तरीका  है जो ग्राहकों को उन्ही कि भाषा में बोल कर प्रभावित करता है |  यहाँ सौ से ज्यादा रिक्शा ,ऑटो चलाने वाले वा दो सो से ज्यादा  हाकर हैं | इनमे से ज्यादातर सिर्फ अंगूठा छाप हैं | पर जब भी कोई विदेशी टूरिस्ट इन्हें मिलता है ये उसी कि जुबान में उससे बात करने लगते हैं | अंग्रेजी ,जापानी ,फ्रेंच,स्पेनिश,जर्मन,इटेलियन ,कोरियाई ,इजरायली जेसी भाषाएँ बेधड़क होकर बोलते हैं | टूरिस्ट भी रिक्शे वालों के मुह से अपनी भाषा सुनकर सहज ही आकर्षित हो जाता है ,और रिक्शा पर बैठने को मजबूर हो जाता है | गाँव से रोजगार कि तलाश में खजुराहो आये रामलाल को जब कोई काम नहीं मिला तो  रिक्शा चलाने लगा | वो अपनी जिन…

Bhagvaan Hue bimaar

चित्र
भगवान भी हुए बीमार रवीन्द्र व्यास   दुनिया के बढते तापमान से अब भगवान् भी बेहाल होने लगे हैं | वे मंदिर से बाहर क्या निकले उन्हे लू लग गई | लू भी एसी लगी की पंद्रह दिनों के लिए  वैद राज ने आराम की सलाह दे डाली  | अब भक्त भी परेशान हें  और भगवान् भी | ये सब हो रहा है मध्य प्रदेश के पन्ना में | ; यहाँ जगन्नाथ स्वामी  अपनी बहिन सुभद्रा और भाई बलदाऊ के साथ बीमार हो गए हैं |  हर साल की तरह इस साल भी भगवान् जगन्नाथ स्वामी अपने भाई बलदाऊ .बहिन सुभद्रा के साथ मंदिर से बाहर आते  हैं \ स्वामी जी के इस स्वरुप को देखने के लिए श्रद्धालु बड़ी संख्या में जुटते हैं | उनका शंख झालर बजा कर स्वागत किया जाता है | उनके स्नान के बाद जब उन्हे बैठाया जाता है तभी उन्हे लू लग जाती है | और  भगवान् को वापिस मंदिर में ले जाया जाता है |मंदिर के पुजारी  राकेश गोस्वामी बताते हैं की  भगवान् जगनाथ स्वामी  बहिन सुभद्रा ,भाई बलदाऊ  गर्भ गृह से निकल कर बाहर जाते हैं ,और स्नान करते  हैं  जब वापास गर्भ गृह में आते हैं  तो उनको लू लग जाती है | लू लगने से भगवान् बीमार पड़ जाते हैं |भगवान् का १५ दिन जड़ी बूटियों से इलाज होता है ,…

P.D.S.

गरीब कि रोटी पर भी डाका  [रवीन्द्र व्यास ] //गरीब कि रोटी का एक बड़ा सहारा राशन कि दुकान भी होती है पर यह एक ऐसी सरकारी व्यवस्था है जो सिर्फ हाथी के दांतों कि तरह दिखावटी है | जिस तरह हांथी के दांतों पर बाहुबलियों का कब्जा रहता है  ठीक उसी तरह इस योजना पर भी डंडा तंत्र का कब्जा है | छतरपुर जिले का  किशनगढ़  इलाका आदिवासी  बाहुल्य है | इस छेत्र में आदिवासियों के साथ किस तरह खिलवाड़ किया जाता है इसकी बानगी देखने को मिली  यहाँ की सुकुवाहा ग्राम पंचायत में ७० फीसदी आदिवासी वा  ३० फीसदी हरिजन  बाहुल्य ,१२०० की आबादी वाले इस गाँव में लोगों को कई कई महीनो तक अंनाज नहीं मिलता | यहाँ पी.ड़ी.एस. वितिरण का सिस्टम भी काफी जोरदार  है| आधा सामान किसनगढ़  में मिलता है और आधा पल्कोंहा में ,दोनों की दूरी गाँव से २०-२०  कि.मी.है | नतीजतन गाँव वालों को कभी सामग्री मिल ही नहीं पाती |इसी इलाके के गाँव मेनारी,घुगरी.,भवरखुआ,नेगुआ ,पटोरी,मतीपुरा ,टिपारी, नीमखेडा, जेसे गांवों में भी लगभग यही हालात है|  "बदहाली और बेबसी का दूसरा नाम है बुंदेलखंड"  यह एसे ही नहीं कहा जाता है यही वे सब कारण हैं जिसके कारण…

baalak ki bali

हत्या या बली
रवीन्द्र व्यास 
दुनिया भले ही  नई सदी में जा रही हो पर बुंदेलखंड इलाके के गाँव आज भी १६ वीं सदी में जी रहे हैं | नवमी के दिन एक आठ साल के बालक की बली चढ़ा दी गई |तीन दिन तक जब उसका कुछ पता नहीं चला तो उसके पिता और परिवार के लोग माता के मंदिर के पंडा पूरन के पास पहुंचे | गाँव के लोगों का विश्वास था की पूरन के सिर पर देवी आती हैं | इस कारण वह जो बताएगा वह सच होगा |अब खेल इस पूरन का था , मौत   बली ना लगे इस लिए  उसने बताया की शोभा पटेल की मौत  जहर खाने से हुई है ,आस पास तलाश करो लड़का मिल जायेगा |  पंडा के आदेश पर जब देवी मंदिर के आस पास तलाश की गई तो मंदिर के पिछवाडे बच्चे का शव मिला |मृतक के गले पर निशान थे |आँखों में खून झलक रहा था ,जीभ बाहर निकली हुई थी| छतरपुर जिले की हिनोता थाना पुलिस ने मौके  पर पहुँच कर पंचनामा बनाया शव को पोस्ट मार्टम हेतु भेज दिया |अब पुलिस ने संदेह के आधार पर पंडा वा एक और को हिरासत में लिया है | बेरखिया पुखरी निवासी देशराज पटेल का पुत्र शोभा  माँ महेश्वरी देवी मंदिर में प्रसाद की दुकान लगाता था | घटना वाले दिन भी वह दुकान ही गया था | शाम को ५ बजे वह …

shankh 18march10.

चित्र
शंखों का संसार   रवीन्द्र व्यास 
शंख हर युग में लोगों को आकर्षित करते रहे है | देव स्थान से लेकर युद्ध भूमि तक , सतयुग से लेकर आज तक शंखों का अपना एक अलग महत्त्व है |पूजा में  इसकी ध्वनि जंहाँ श्रद्धा वा आस्था का भाव जगाती  है वहीँ युद्ध भूमि में जोश पैदा करती है |समुद्र मंथन में मिले १४ रत्नों में शंख भी एक रत्न है \ गीता में जिन पांच वाद्यों का उल्लेख है उनमे शंख प्रथम है |तंत्र शास्त्र में शंख को शुभ ,सोभाग्य   का प्रतीक माना गया है | मध्य प्रदेश  के छतरपुर जिले में ईशानगर नामक एक क़स्बा है | यहाँ के पंडित हरसेवक मिश्रा का घर शंखों का संग्रहालय बन गया  है | बीते चालीस  सालों में उन्होने तमाम तरह के हजारों  शंख जुटाए है | उनका यह जुनून अब भी जारी है |हर साल वे तीर्थ यात्रा पर जाते है और ऐसी दुर्लभ चीजें जुटाते है | इसके पीछे वे बताते है कि उनकी पत्नी ने प्रेरणा दी थी कि  एसा कुछ करो जो हमेशा याद किया जाये| पंडित हरसेवक मिश्रा आज ७० साल से भी ज्यादा उम्र के हो गए है | किन्तु उनका जोश और जज्बा  अनेक लोगों को प्रेरणा देता है | आज उनके इस अनोखे संग्रहालय में २५ हजार से भी ज्यादा शंखों का खज…

ajab dastaan

चित्र
फिरोती में मांगी लड़की 
रवीन्द्र व्यास 

छतरपुर जिले के सरबाई  कस्बे से एक अनोखा अपहरण का मामला सामने आया है | अपहरण कर्ता फूल सिंह ने डेढ़ साल के दलित लडके का अपहरण कर फिरोती के रूप में उसकी १८ वर्षीया  बहिन [सुमन } की मांग की है | पुलिस अपहरण कर्ता की तलाश में जुटी है | घटना की कहानी बताते हुए सुमन ने बताया  १५ अगस्त ०९ के दूसरे दिन रात १२ बजे फूल सिंह दरवाजे तोड़ कर मुझे उठा ले गया था ,पहले जंगल ले गया फिर बांदा ले गया ३-४ दिन रखे रहा ' वो मेरे साथ गलत काम करता रहा और दूसरों से भी कराता रहा | कल बरबंद घाट पर हम को पुलिस ने सादा वर्दी में पहुँच कर बचाया वो तो पुलिस को देख कर भाग गया हम वह्नी खडे रहे \ रात में वो हमारे मामा के लडके मोहित  को उठा ले गया और कह रहा है की तुम आ जाओ तो इसे छोड़ देंगे | ये वो कहानी है जो सुमन ने मीडिया को बताई है | सरबाई थाना प्रभारी ए.राय के अनुसार सुमन का परिवार गोहानी में फूल सिंह के यहाँ कटाई का ,खेती का काम करता था वहीँ इन दोनों के बीच सम्बन्ध बने और फूल सिंह इसे ले गया ,बहर हाल पुलिस अप्रहत बच्चे की तलाश कर रही है | छतरपुर जिले का यह वह इलाका है जहाँ स्…

ladki ki bebasi

चित्र
फिर जिन्दा जलाया लड़की को -----------------रवीन्द्र व्यास --------
मध्य प्रदेश के छतरपुर में एक सत्रह साल की लड़की को जिन्दा जलादिया गया | शतप्रतिशत जली इस लड़की को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती किया गया जहाँ उसकी ४ मार्च को देर रात मोत हो गई |  छतरपुर के पास  हमा गाँव में  शाम के समय रोज की तरह हलचल नहीं थी |गाँव में मातम का माहोल था \ आखिर इस गाँव में भी शहर की बीमारी जो लग गई थी \सत्रह साल की छात्रा संध्या रिछारिया को उसीके  घर में जिन्दा जला दिया गया | संध्या  के  पिता सरजू प्रसाद जब घर आए तो उन्हे अपनी बेटी जलती हुई मिली \ उसी ने अपने पिता और तहसीलदार को दिए बयानों में बताया कि कुछ लोगों ने घर में  घुसने का प्रयास  किया |दरवाजा ना खोले जाने पर रमाकांत रावत ,हीरालाल रावत [५८],अशोक रावत ,वा दीपक नायक  बगल वाले के घर से कूद कर अन्दर घुसे \ इन लोगों ने उसके साथ जोर जबरदस्ती का प्रयास  किया ,असफल होने पर केरोसिन डाल कर जिन्दा जला दिया | पिता सरजू प्रसाद रिछारिया ने इसकी खबर गाँव के सरपंच को दी उन्होंने वाहन का इंतजाम किया और संध्या को शतप्रतिशत जली दशा में छतरपुर जिला अस्पताल में भ…

Fwd: Story Script/ Khajuraho Matangeswar

मतंगेस्वर मंदिर जहाँ हर मुराद होती है पूर्ण 
[रवीन्द्र व्यास ] खजुराहो के मंदिर वेसे तो दुनिया भर में काम कला के मंदिरों के रूप में विख्यात है| किन्तु यंहां का  मतंगेस्वर शिव मंदिर हिन्दुओं की आस्था का बड़ा केंद्र है |यही एक मात्र एसा मंदिर है जहाँ आदि काल से निरंतर पूजा होती चली आ रही है | चंदेल राजाओं द्वारा नोवी सदी  में बंनाये गए इस मंदिर में के शिव लिंग के नीचे एक एसी मणि है जो हर मनोकामना पूरी करती है \ कभी यहाँ भगवान् राम ने भी पूजा की थी | शिव रात्रि के दिन यहाँ शिव भक्तों का तांता लगा रहता | खजुराहो के सभी मंदिरों में सबसे ऊँची जगती पर बने इस मंदिर में जो भी आता है वो भक्ति में डूब जाता है चाहे वो हिन्दुस्तानी हो या विदेशी | कहते है की यह शिव लिंग किसी ने बनवाया नहीं है बल्कि यह स्वयंभू शिव लिंग है \ १८ फिट की मूर्ति है  जितना ऊपर है उतना ही नीचे भी है |ये मूर्ति प्रति वर्ष तिल के बराबर बढती भी है | मतंग ऋषि करते थे पूजा   यंहां मतंग ऋषि इस शिव लिंग की पूजा करते थे | इसका नाम मतंगेस्वर स्वयं  भगवान् श्री राम ने मतंग ऋषि के नाम पर रखा था |हमे यहाँ मिले यमुना प्रसाद मिश्रा [योगी] …

Rani hui farar

राजा गए जेल ,रानी हुई फरार खबरदरखबर - बुंदेलखं[रवीन्द्रव्यास ]
मध्यप्रदेशकेबुंदेलखंडइलाकेमेंइनदिनोंपंचायतचुनावकेबादयदिकिसीकीचर्चासबसेज्यादाहैतोवोहैभैयाराजा,अपनीहीनातिनवसुंधराकीहत्याकेषड्यंत्रकेआरोपमेंजेलमेंबंदभैयाराजापरयेएकएसाकलंकलगाहैजोउनकेद्वाराकियेगएतमामअपराधोंपरभारीपडाइसमुश्किलसेवेनिजातपातेकीउनकेएकऔरपापकीफाइलखुलगई , उन्होनेअपनेसाथियोंकीमददसेसाटा[पन्ना]गाँवसे१३सालपहलेविवाहितातिज्जीबाईकाअपहरणकरायाउसेबंधकबनाकररखा ,२१ /०५/०७कोउसनेआगलगाकरभोपालमेंआत्महत्याकरलीउनकेइसपापमेंउनकीपहलीपत्नीविधायकआशारानीकीभीसहभागिताबताईजातीहै , भोपालपुलिसनेउनकेऊपरभी