संदेश

May, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मगर मच्छ ने निगला फायर वाचर

चित्र
मध्यप्रदेशकेपन्नाटाइगररिजर्वकेफायरवाचरदुर्जनयादव कोमगरमच्छनेनिगललिया।टाइगररिजर्वमेंकामकरनेवालायहव्यक्ति ,टाइगररिजर्वकेअंदरकेननदीकेभैराघाटपररोजाननहानेजाताथा।गएरोजजबयहनहानेकेलिएनदीमेंकूदातो

विस्फोट से घर उडा, तीन गंभीर एक की मौत

चित्र
छतरपुर // पन्ना जिले के धरमपुर थाना इलाके के  नवस्ता  गाँव मेंसोमवार कोरामविशालभुर्जी( 60 )केघर में विस्फोटकसामाग्रीबनाते समय अचानकहुए विस्फोट में पूराघरक्षतिग्रस्तहोगया। , विस्फोटहोतेहीघरमेंआगलगगईआजजिसमेंभीएककीमौतऔरतीनलोगगंभीररूपसेझुलसगयेहै। जिन्हे उपचार हेतु पन्ना जिला अस्पताल भर्ती किया गया है ।  इस घटना में सुरक्षित बचे भाई राजा भैया ने बताया  की रामविशाल , दादू  , श्रीमतिनीलमगम्भीररूपसेझुलसगईऔररामदास( 28) कीघटनास्थलपरहीमौतहोगई।घटनाकीसूचनामिलतेहीमौकेपरपहुचीपुलिसनेगंभीररूपसेझुलसेलोगोकोसामुदायिकस्वास्थ्यकेन्द्रअजयगढलेकरआईजहांप्राथमिकउपचारकरपन्नाचिकित्सालयरिफरकरदियागयातोवहीमृतकरामदासकाशवपीएमकेलिएभेजमर्गकायमकिया।पन्ना के  डॉ  एच एन शर्मा  बताया की रामविशाल और दादू ८० फीसदी जले हैं  नीलम कुछ ठीक , हालत गंभीर है ।  पन्ना जिले की यह कोई पहली घटना घटना नहीं है अभी कुछहीमाह  पहले शहरकेजुगुलकिशोरजीमंदिरकेपासएकघरमेंविस्फोटकसामाग्रीकेकारणहुएविस्फोटमेंएककीमौतहोगईथीऔरघरक्षतिग्रस्तहो <

पुलिस के भय से बालक ने खुद को जिन्दा जलाया /

चित्र
छतरपुर // मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ में एक १४ वर्षीय बालक ने  पुलिस के भय से खुद को जिन्दा लिया । उपचार के लिए उसे ग्वालियर रेफर किया गया था , जहाँ इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई । नाराज नागरिकों ने आज बालक की अर्थी चौराहे पर रख कर पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की   । नाराज परिजन तभी माने जब पुलिस अधिकारी ने जांच का भरोषा देते हुए दोषी के विरुद्ध कार्यवाही का आश्वाशन दिया ।   बालक के पिता गंगू सेन ने बताया कि पुलिस के द्वारा हमारे बच्चे को बुरी तरह से मारा गया जिस  कारण उसकी मौत हो गई ,  आत्म ह्त्या कर ली । ९-१० ता को गार्डन में  चोरी हो गई थी \ पुलिस  घर पर आई और कहा    बच्चा कहाँ है उसकी कैमरे में फोटो है , बस ले कर चले गए , शाम को हम लिवा लाये ।  फिर दो पुलिस वाले  ले गए ,उसे तीन दिन तक कोतवाली में रखा और दो पुलिस वालों ने तीन दिन  नंगा कर मारा । १५ ता को  था सो छोड़ दिया , और बोले की इसकी मार्क शीट लेकर इसे साथ लेकर आना / हमने कहा  जब आदेश करेंगे तब हम  आ जायेंगे । जब हम उसे लेकर आये तब वह चल   नहीं पा रहा था । अस्पताल  भर्ती रहा । १३ ता को फिर सुड़ेले  नामक पुलिस वाला आया  बोला  बुलाया …