संदेश

April, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Bundelkhand Dayri

चित्र
 संकट में समाधान की तलाश 


रवींद्र व्यास 

बुंदेलखंड में जल को लेकर हालात दिन बा दिन बदतर होते जा रहे हैं । बुंदेलखंड के अथाह जल श्रोत का केंद्र माने जाने वाले छतरपुर जिले के भीमकुंड का पानी भी इस बार  नीचे खिषक गया है । भीम कुंड का इतना नीचे पहुंचा जल स्तर यहां के लोगों ने अपनी याद में पहली बार देखा है । केंद्रीय भूजल बोर्ड की सर्वे रिपोर्ट बताती  हैं की देश में 2001 के आंकड़ों के अनुसार प्रति व्यक्ति 5120 लीटर पानी बचा है ।  2025 तक पानी की उपलब्धता 25 फीसदी ही रह जायेगी । 


                                बुंदेलखंड में जल के संकट का सामना  लगभग हर नगर ,कस्बे  और गाँव के जीव  कर रहे हैं ।  छतरपुर नगर के मुख्य जल प्रदाय वाली धसान नदी और खोप ताल सूख गया है । बूढ़ा बाँध से भी 15 मई तक ही पानी की जुगाड़ हो पाएगी । शेष 45 दिनों कैसे चलेगा काम यह बड़ा सवाल लोगों को बेचैन कर रहा है । छतरपुर नगर पालिका प्यास लगने पर कुआं खोदने की कहावत को चरितार्थ कर रही है । पिछले एक हफ्ते के दौरान नगर पालिका अध्यक्ष की ओर से जारी बयानों में यह बताने का प्रयास किया गया की वे नगर की भीषण होती जल समस्या के प्रति बहु…

Bundelkhand Dayri

चित्र
पाताल में पहुँचता पानी 

रवीन्द्र व्यास 
SOCIAL MEDIA FOUNDATION

बुंदेलखंड क्षेत्र के छतरपुर जिले के नौगांव के निकट धसान नदी में  पिछले दिनों पानी की तलास में नगर पालिका ने कई बोर करवाए पर किसी में पानी नहीं मिला । आम तौर  पर देखा जाए तो यह सामान्य घटना है , किन्तु यदि सोचा जाए तो यह एक भयानक चेतावनी है । सदियों से बहती नदी में यदि  बोर कराने पर  पानी नहीं मिल रहा है तो बाकी स्थानों की दशा क्या होगी । क्या यह ये बताने के लिए पर्याप्त नहीं है की बुंदेलखंड का इलाका अब भू -जल दोहन के लिए अनकूल नहीं है ? सरकारी रिकार्ड में भू जल से समृद्ध माने जाने वाले इस क्षेत्र में पुनः सर्वेक्षण की जरूररत है । 

          दरअसल जिले की नोगाँव नगर पालिका के सामने जनवरी माह में ही जल संकट खड़ा हो गया था । संकट के समाधान के लिए नगर पालिका ने धसान के आस पास जल श्रोत तालशे , टीला जलाशय से पानी लाने का भी प्रयास किया पर हर जगह से नाकामी के बाद पालिका ने धसान नदी में ही कई बोर इस आशा में करा दिए की नदी में बोर कराने से पर्याप्त भू जल मिल जाएगा , पर नहीं मिला । भू -जल तो नहीं मिला पर इस जतन ने एक खतरे की घंटी जरूर …

Chaild Lbour

चित्र
 कुआ खोदते बच्चे 

पन्ना /एम पी / बुंदेलखंड / जिले के अजयगढजनपदपंचायत के ग्रामपंचायतबीहरपुरवाकेग्रामपैरहामे  घटिया सीसीरोड, और कुआ खुदाई में 
बच्चों को मजदूरी करता देख जनपद अध्यक्ष भरत मिलन पांडेय ने नाराजगी जताई है । 


चौदहवेवित्तसे 100 मीटर लम्बी सीसीरोडको जब खुदवाकर देखा गया तो मोटाई मात्र  2.5 इंच निकली । 
पंचपरमेश्वरयोजनासे निर्मित सीसीरोडकीमोटाई  3.5 इंच निकली । स्टीमेटकेअनुसारसीसीरोडकीमोटाई 8 इंचहोनाचाहिए । 
मौकेपरसंरपचसचिव को जब तलाशा गया तो दोनों नदारत हो गए ।
ग्रामपंचायतपैरहामेकपिलधारायोजना के अन्तर्गतजयपालकोरीकेनाम कूप स्वीकृत

Bundelkhand Dayri

चित्र
जलकेलिएजूझताटीकमगढ़
रवींद्रव्यास


बुंदेलखंडतेरीअजबकहानीनापेटकोपानीनाखेतकोपानी , ऐसाहीकुछनजाराबुंदेलखंडकेटीकमगढ़जिलेमेंदेखनेकोमिलहै।जहांगिरतेजलस्तरनेइससालकरेलाऔरनीमचढ़ावालीकहावतचरितार्थहोरहीहै।नष्टहोतेइसजिलेकेतालाबोंकेकारणएकतो